पतंजलि बाबा रामदेव ने लॉंच की देसी जींस, बताया पेट के नीचे की बीमारियों में लाभदायक

0
414

बाबा रामदेव आजकल भारतीय बाजार में काफ़ी फेमस नाम है, बाबा राम देव हर समाचारपत्रों, चैनलों, और यहाँ तक की राजनितिक दलों की बैठकों में भी छाये हुए थे. अब आप मुझसे पूछ सकते है भाई ये बाबा राम देव कब सुर्खिओं में नहीं होते? देश चाहे कैसी भी समस्या से गुजरे उसका कोई समाधान किसी के पास हो या न हो पर बाबा राम देव अपने रामबाण के साथ आपको हर चैनल पर प्रवचन देते मिल जायेंगे. अब बाबा रामदेब स्वदेशी जींस भी निकालने वाले हैं, जिसको पहनने से आपको योग के सभी फायदे मिलेंगे। साथ ही आपकी कई बीमारियां भी सही हो जाएंगी, यदि आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं आज हम आपको इसकी जानकारी सबसे पहले दे रहें हैं।

जानते है कुछ सवाल और बाबा के जवाब

रिपोर्टर– बाबा क्या ऋषि पतंजलि के नाम पर जींस जैसा कपड़ा शुरू करना अशोभनीय नहीं है या कभी पतंजलि जी ने भी जींस पहनी थी? (Patanjali Baba Ramdev told the launch of the indigenous jeans, beneficial in diseases beneath the stomach)

बाबा रामदेव – हीहीहीही…, नहीं पहनी बेटा, लेकिन पतंजलि जी के नाम से ही शुरू कर रहे है. अब देखो यह तो भारतीयता के संस्कार ही हैं कि यहां के लोग अपने किये सभी कार्यो का श्रेय अपने से बड़े लोगों को ही देते हैं, सो हम भी पतंजलि जी के नाम से ही सभी चीजे बाजार में उतारते हैं, सही है न बेटा…

रिपोर्टर – वो तो सही है बाबा, पर मैंने सुना है कि आपने अपनी जींस पहनने से बीमारियां सही होने का दावा भी किया है, ये क्या चक्कर है बाबा?

बाबा रामदेव – ये चक्कर नहीं बेटा… ये विज्ञान है, अब देखो आयुर्वेद में सब विज्ञान ही है, तो हमने अपने इस जींस को बनाते समय इसमें आयुर्वेद के कुछ अचूक नुस्खों के रस को जींस एक कपड़े पर लगाया है, जिससे आपके पेट के नीचे की समस्त बीमारियां खत्म हो जाती हैं।

रिपोर्टर – अच्छा जींस से पुरुषों को स्वस्थ करने के बाद क्या महिलाओं के लिए भी प्रोडक्ट निकालेंगे या नहीं?

बाबा रामदेव – क्यों नहीं…पर उसके बारे में अभी कुछ सोचा नहीं असल में देवियों और बहनों के बारे में हमारी यह जींस मार्केट में चलने के बाद ही विचार करेंगे।

Baba ramdev is increasing his business in the Indian market so that we can depend on our products which are made in India. And can give a valuable money to our farmers, and can help in growing of Indian Economy,

दिल छू लेने वाली कहानी, एक किसान के मन की बात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here