टीम इंडिया के इस बल्लेबाज़ ने कर दिया वो काम, जो इस सदी में नहीं कर पाया कोई भारतीय

0
268

भारत और श्रीलंका के बीच कोलकाता में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के दौरान चेतेश्वर पुजारा ने वो काम कर दिखाया जो इस सदी में टीम इंडिया का कोई भी खिलाड़ी नहीं कर पाया। दूसरी पारी में पुजारा 22 रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन अपना विकेट गंवाने से पहले उन्होंने इस सदी में टेस्ट क्रिकेट में पांच के पांच दिन बल्लेबाज़ी करने का रिकॉर्ड बना दिया।

ऐसे बनाया पुजारा ने ये रिकॉर्ड

इस टेस्ट मैच के पहले दिन भारत ने मैच की पहली गेंद पर लोकेश राहुल का विकेट गंवा दिया तो पुजारा बल्लेबाज़ी करने के लिए आए। इसके बाद बारिश ने मैच में बाधा डाली तो पहले दिन का खेल जल्दी ही खत्म हो गया। पहले दिन पुजारा नाबाद 8 रन बनाकर बल्लेबाज़ी कर रहे थे। दूसरे दिन बल्लेबाजी करने के लिए आए पुजारा 47 रन बनाकर नाबाद रहे। हालांकि दूसरे दिन भी बारिश की आंख मिचौली जारी रही। तीसरे दिन पुजारा अर्धशतक (52) रन बनाकर पवेलियन लौट गए और इसी दिन भारत की पारी भी 172 रन पर सिमट गई। इसके बाद बल्लेबाज़ी करने उतरी श्रीलंका की टीम की पहली पारी 294 रन पर सिमटी और भारतीय टीम बल्लेबाज़ी करने उतरी, लेकिन चौथे दिन का खेल खत्म होने से पहले ही शिखर धवन आउट हो गए और पुजारा चौथे दिन भी बल्लेबाज़ी करने उतरे। पांचवें दिन की सुबह एक बार फिर वो मैदान पर आए और बल्लेबाज़ी की। हालांकि इस पारी में वो सिर्फ 22 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। पुजारा को लकमल की गेंद पर दिलरुवान परेरा ने कैच पकड़ कर आउट किया।

ऐसा करने वाले तीसरे भारतीय हैं पुजारा

चेतेश्वर पुजारा एक टेस्ट मैच में पांचों दिन बल्लेबाज़ी करने वाले तीसरे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। इससे पहले एम एल जयसिम्हा ने 1960 में ऐसा किया था। इसके बाद इस उपलब्धि को टीम इंडिया के मौजूदा कोच रवि शास्त्री ने हासिल किया था। शास्त्री ने ये काम 1984 में किया था। इसके बाद इस सदी में पुजारा ये काम करने वाले एकलौते भारतीय बल्लेबाज़ बन गए हैं।

तीनों बार कोलकाता में हुआ ऐसा

क्रिकेट इतिहास में ये तीसरे मौका है जब किसी भारतीय खिलाड़ी ने एक टेस्ट मैच के पांचों दिन बल्लेबाज़ी की है और खास बात ये है कि ये काम तीनों ही बार कोलकाता में हुआ है। एम एल जयसिम्हा ने 1960 में कोलकाता में ही ये काम किया था। इसी बाद रवि शास्त्री ने भी कोलकाता में ये उपलब्धि हासिल की और अब पुजारा ने भी कोलकाता में ही ये रिकॉर्ड बनाया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here